पूर्व मध्यकाल (दक्षिण भारत) , Medieval indian history

Updated: Sep 7

दक्षिण का चोल राजवंश यह भारतीय महाद्वीप के एक बड़े हिस्‍से को शामिल करते हुए नौवीं शताब्‍दी ए.डी. के मध्‍य में उभरा साथ ही यह श्रीलंका तथा मालदीव में भी फैला था।

इस राजवंश से उभरने वाला प्रथम महत्‍वपूर्ण शासक राजराजा चोल 1 और उनके पुत्र तथा उत्तरवर्ती राजेन्‍द्र चोल थे। राजराजा ने अपने पिता की जोड़ने की नीति को आगे बढ़ाया। उसने बंगाल, ओडिशा और मध्‍य प्रदेश के दूरदराज के इलाकों पर सशस्‍त्र चढ़ाई की।


IMPORTANT MCQS FOR EXAMS...CLICK HERE

राजेन्‍द्र I, राजाधिराज और राजेन्‍द्र II के उत्तरवर्ती निडर शासक थे जो चालुक्‍य राजाओं से आगे चलकर वीरतापूर्वक लड़े किन्‍तु चोल राजवंश के पतन को रोक नहीं पाए। आगे चलकर चोल राजा कमजोर और अक्षम शासक सिद्ध हुए। इस प्रकार चोल साम्राज्‍य आगे लगभग डेढ़ शताब्‍दी तक आगे चला और अंतत: चौदहवीं शताब्‍दी ए.डी. की शुरूआत में मलिक कफूर के आक्रमण पर समाप्‍त हो गया।


Recent Posts

See All

पूर्व मध्यकाल (दक्षिण भारत) , Medieval indian history Quiz

पूर्व मध्यकाल (दक्षिण भारत) , Medieval indian history quiz,पूर्व मध्यकाल (दक्षिण भारत) , Medieval indian history,पूर्व मध्यकालीन भारत का इतिहास,पूर्व मध्यकालीन भारत का इतिहास नोट्स,पूर्व मध्यकालीन भार